1.7 C
London
Wednesday, February 8, 2023
Homeलाइफस्टाइलसेहतहफ्ते में दो दिन सोलह घंटे का उपवास सेहत के लिए लाभदायक

हफ्ते में दो दिन सोलह घंटे का उपवास सेहत के लिए लाभदायक

Date:

Related stories

spot_imgspot_img

नियमित अंतराल पर उपवास करना स्वस्थ रहने में मददगार हो सकता है। दुनियाभर के अनेक विशेषज्ञों ने अपने प्रयोगों में इस तरीके को लाभदायक पाया है। ऑस्ट्रेलिया की आहार विशेषज्ञ ली होम्स ने कहा, लोगों को हरेक सप्ताह दो बार उपवास करना चाहिए। इसके अनेक फायदे हैं। उन्होंने कहा, मैं पिछले चार से खुद यह उपाय आजमा रही हूं और मैंने इसके स्वास्थ्य संबंधी कई फायदे पाए हैं।

उपवास से होम्स का आशय नियंत्रित आहार से है। उनके मुताबिक, उपवास कई तरह का हो सकता है। इसमें कुछ नहीं खाने से लेकर नियंत्रित आहार लेना तक शामिल है। उन्होंने कहा, स्वस्थ रहने के लिए व्यक्ति को उपवास करने के दौरान अपने आहार को कम कर 500 से 600 कैलोरी पर सीमित करना चाहिए।

इससे उपवास से पैदा होने वाली भूख और थकान से निपटने में मदद मिलेगी।

होम्स ने कहा, शुरुआत में मैंने उपवास करने पर कठिनाई महसूस की, क्योंकि मुझे हमेशा खाने की आदत थी। उन्होंने कहा, अधिकतर लोग अक्सर कुछ न कुछ खाते रहते हैं। इससे उनके शरीर को वसा जलाने का मौका ही नहीं मिल पाता। इससे वजन और मोटा बढ़ सकता है, जिससे कई गंभीर बीमारियों के होने की संभावना बढ़ जाती है। होम्स ने बताया कि उपवास शुरू करने के कुछ सप्ताह बाद मैंने खुद को अपेक्षाकृत अधिक स्वस्थ और ऊर्जावान महसूस किया। उन्होंने कहा, उपवास के दौरान आठ घंटे के दायरे में कम कैलोरी वाली चीजें लेनी चाहिए। इस दौरान 11 बजे पूर्वाह्न में नाश्ता करना, दोपहर बाद दो बजे खाना खाना और शाम सात बजे रात का खाना खाना ठीक रहता है।

उन्होंने कहा, थोड़ा देर से नाश्ता करने और रात में जल्दी खाना खाने से शरीर को उपवास के लिए करीब 16 घंटे का वक्त मिल जाता है। इससे वजन भी संतुलित बना रहता है। पूरे दिन उपवास करने वाले लोगों को निम्न कैलोरी वाला आहार लेना चाहिए। यह पुरुषों के लिए 600 और महिलाओं के लिए 500 कैलोरी होनी चाहिए।

सेहत

  • उपवास करने के दौरान अपना आहार 500 से 600 कैलोरी ही रखना चाहिए
  • हमेशा कुछ न कुछ खाते रहने से शरीर को वसा जलाने का मौका नहीं मिलता

किस तरह लाभदायक

  • उपवास के दौरान शरीर शर्करा को खपाने की बजाय वसा को जलाने लगता है
  • यह भूख और संतुष्टि से जुड़े हार्मोन (इंसुलिन व लेप्टिन) को संतुलित करता है
  • इससे शरीर हमारे आहार का ऊर्जा के रूप में अधिक दक्षता से उपयोग करता है
  • यह शरीर में चयापचय की प्रक्रिया को दुरुस्त करता है और ऊर्जा स्तर बढ़ाता है

बेहतर आहार चुनें

  • उपवास के दौरान आहार में जंक फूड को शामिल नहीं करना चाहिए
  • अन्न की बजाय फलों और सब्जियों का सेवन किया जा सकता है
  • यह सुनिश्चत करें कि उपवास के दौरान शरीर में पानी की कमी न हो

Subscribe

- Never miss a story with notifications

- Gain full access to our premium content

- Browse free from up to 5 devices at once

Latest stories

spot_img